daribichaogang@gmail.com
sarcasm

हम करके रहेगे गुलामी |

है हक़ हमारा गुलामी ,हम करते आये गुलामी,

हमारे बाप दादा ने की गुलामी ,

मुस्लिम कयादत वालो तुम कैसे न करने दोगे गुलामी ,

हम करके रहेगे गुलामी |

गुलामी जिंदाबाद जिंदाबाद |

 

Share this post

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *